Kaavyanjali Ek Saprem Bhent............









 

                                                                   

युग बदला, समाज बदला, बदल गयी "कंडीशन" 
डाक्टरी
, वकालत ही नही अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

ना कोई पड़ाई ना कोई क्लास ना कोई "एग्ज़ॅमिनेशन
बस बढ़ाओ बोलने की छमता, अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

आप नौकरी करे और पाना चाहे "प्रमोशन"
इन्हे नही कोई टेंशन, अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

लोगो को कहे सब त्याग दो आप एंजाय करे "एयर-कंडीशन
सेवा करवाओ कार में घूमो ,अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

हर तरफ से आए फंड, इनकम- टॅक्स का नही कोई "टेंशन
इसमे तो प्रॉफिट ही प्रॉफिट, अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

ना कोई डिग्री ना कोई डिप्लोमा ना कोई "एजुकेशन
लोगो को सच्चाई का दिखाओ आईना, अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

भरी भीड़ मैं लोग तरसे करवाने को "इंट्रोडकशन
आप तो बस मिले वी.आई.पी से अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

ऊँचे सिंहासन पे बैठे ,पाए करे जो भी "मेन्षन
आपको राजसी सुख मिलेगा, अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

देश -विदेश की करे यात्रा, देखे नये "डेस्टिनेशन
दूसरो के खर्च पे विदेश घूमे अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

आप के सारे जुर्म माफ़ है,लोगो का जुड़ा है "एमोशन
जनता आप को बचाएगी,अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

अपना काला धन वाइट करवाए, देके आप को "डोनेशन
ब्लैक को वाइट कर मिले कमीशन ,अब प्रवचन भी प्रोफेशन 

तो भक्तो,इस कविता के अंत मैं देता हू एक "सजेशन
काहै को इतनी करे मेहनत,जब प्रवचन भी प्रोफेशन

Updated: Sep-2010

Email : vishwas@kaavyanjali.com