Kaavyanjali Ek Saprem Bhent............









 


 




 

 बोला सचिन का भारी बल्ला, सह्वाग के बल्ले से
"पूरा करना है आज सचिन का सपना"
ऊपर-कट घुमा के सहवाग का गदा-बल्ला बोला
"चिन्ता  मत  कर  तू, ये विश्व-कप तो बस है अपना,
सीमा छोटी है, मैं तो छक्के मारूंगा,
तू सम्भाल मुरली को, मैं मलिन्गा को धुन डालूंगा"

जहीर का बांया हाथ फड्फडाया और यूँ बोला
"कुछ ऐसे
REVERSE SWING कराऊंगा
डिलशान, संगकारा, जैवर्दने को तुरत पैवीलियन पहुंचाऊंगा

 

भज्जी की उंगलियों ने फिरकी ली
"गेंद आज घूमेगी ऐसे, लंका को "तू चल मैं आया" गाना गवाऊंगा,
DOOSRA फेंक भारत को "DOOSRA" विश्व-कप दिलाऊंगा"

धोनी के
GLOVES ने इतने में ताली मारी
"बिना पिलाए, पूरे भारत को आज नशे में ले आएंगे,
जब विश्व-कप कंधे पर रखकर
WANKHEDE में हम घुमाएंगे
झूमेगा भारत, भूलेगा लंका,
अब
तो WANKHEDE में लहराएगा बस अपना ही तिरंगा..

....chak de..e..e..e...  chak de..e..e..e... INDIA...



Updated:
Apr-2011

Email : vishwas@kaavyanjali.com